आदित्य-L1 आज हेलो ऑर्बिट में प्रवेश करेगा, इसरो में शाम 4 बजे engines भेजेगा

आदित्य-एल1 मिशन 

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने आदित्य-एल1 मिशन की शुरुआत की है, जिसका मुख्य उद्देश्य है  

मिशन की विशेषताएँ 

आदित्य-एल1 मिशन, भूमंडलीय सूर्य अनुशासन और वैज्ञानिक अनुसंधान के लिए एक महत्वपूर्ण पहलुओं पर केंद्रित है। 

उपग्रह का नाम 

इस मिशन का नाम है "आदित्य-एल1," जिसमें सूर्य के निकटस्थ स्थिति में अनुसंधान करने की क्षमता है। 

मिशन के उद्देश्य 

आदित्य-एल1 मिशन का प्रमुख उद्देश्य है सूर्य के प्रकाशमंडलीय विचारों को गहराई से अध्ययन करना  

मिशन के लाभ 

आदित्य-एल1 मिशन से वैज्ञानिकों को सूर्य के धारावाहिक विचारों की नई जानकारी होगी, जो सौरमंडलीय विज्ञान में नए दरवाजे खोल सकते हैं। 

मिशन का उद्देश्य 

आदित्य-एल1 मिशन का मुख्य उद्देश्य है सूर्य के प्रकाशमंडलीय विचारों को गहराई