Post Office MIS Scheme : इस Post Office स्कीम में हर महीने मिलेंगे 9 हजार रुपए, देखें कैसे ले इसका लाभ, जल्द ही भरे ये फॉर्म

Post Office MIS Scheme : आज हम आपको एक ऐसी पोस्ट ऑफिस ( Post Office ) स्कीम के बारे में बताने जा रहे हैं जिसमें निवेश करने पर आपको कई फायदे मिलते हैं। इस पोस्ट ऑफिस मासिक आय योजना ( Post Office Monthly Income Scheme ) में निवेश का एक फायदा ये भी है कि इसमें आपको हर महीने एकमुश्त रकम भी मिलती है। ऐसे में कभी किसी तरह की आर्थिक समस्या होने पर यह रुपये आपके काफी काम आ सकते हैं। आईए आपको बताते हैं इस POMIS योजना के बारे में।

हम आपको जिस पोस्ट ऑफिस ( Post Office ) योजना के बारे में बता रहे हैं वो पोस्ट ऑफिस की है। पोस्ट ऑफिस की मंथली इनकम स्कीम अकाउंट (MIS) में आपको अच्छा ब्याज मिलता है। इस योजना में आप एक बार में निश्चित राशि का निवेश कर सकते हैं। इस पोस्ट ऑफिस मासिक आय योजना ( Post Office Monthly Income Scheme ) में आप एक बार कोई एकमुश्त राशि का निवेश करके हर महीने ब्याज के रूप में मंथली इनकम हासिल कर सकते हैं। जनवरी-मार्च 2023 के लिए POMIS ब्याज दर 7.1 फीसदी ब्याजदर तय की गई है।

Post Office Monthly Income Scheme में अधिकतम 15 लाख जमा कर सकतें है

हालांकि सरकार नियमित आधार पर ब्याज दर निर्धारित करती है । पोस्ट ऑफिस मासिक आय योजना ( Post Office Monthly Income Scheme ) के लिए लॉक-इन पीरियड 5 वर्ष का है। आप मैच्योरिटी के बाद निवेश की गई राशि को निकाल सकते हैं या इसे दोबारा निवेश कर सकते हैं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण 2023 में घोषणा की कि इस POMIS योजना में अधिकतम निवेश सीमा एकल खाते के लिए 4.5 लाख रुपये से बढ़ाकर 9 लाख रुपये और संयुक्त खाते के लिए 15 लाख रुपये कर दी जाएगी । पोस्ट ऑफिस ( Post Office ) वर्तमान में पिछली निवेश सीमा दिखाता है।

POMIS में इस तरह हर महीने मिलेंगे 9 हजार रुपये

पोस्ट ऑफिस मासिक आय योजना ( Post Office Monthly Income Scheme ) में निवेश की सीमा बढ़ जाने के बाद, एक संयुक्त खाते में 15 लाख रुपये का निवेश किया जा सकता है । 15 लाख के निवेश के बाद ब्याज के रूप में करीब 9,000 रुपये (8,875 रुपये) की मासिक आय हासिल की जा सकती है। इस पोस्ट ऑफिस ( Post Office ) स्कीम के तहत सभी संयुक्त धारकों का निवेश में बराबर का हिस्सा होगा।

POMIS ब्याज का भुगतान खुलने की तारीख से एक महीना पूरा होने पर इसी तरह मैच्योरिटी तक किया जाएगा। सिंगल अकाउंट के लिए पोस्ट ऑफिस मासिक आय योजना ( Post Office Monthly Income Scheme ) में 9 लाख रुपये की मासिक ब्याज आय 5,325 रुपये की मासिक आय होगी, जबकि पोस्ट ऑफिस ( Post Office ) संयुक्त खाते में 15 लाख रुपये की जमा राशि 8,875 रुपये की मासिक आय हासिल होगी।

Post Office Monthly Income Scheme में मिलते हैं ये फायदे

POMIS में अच्छी बात ये है कि दो या तीन लोग मिलकर भी ज्वाइंट अकाउंट खुलवा सकते हैं। इस अकाउंट के बदले में मिलने वाली आय को हर सदस्य को बराबर दिया जाता है । पोस्ट ऑफिस मासिक आय योजना ( Post Office Monthly Income Scheme ) ज्वाइंट अकाउंट को कभी भी सिंगल अकाउंट में बदलवाया जा सकता है। सिंगल अकाउंट को भी ज्वाइंट अकाउंट (Joint account) में बदलवा सकते हैं। अकाउंट में किसी तरह का बदलाव करने के लिए सभी पोस्ट ऑफिस ( Post Office ) अकाउंट मेंबर्स की ज्वाइंट एप्लीकेशन देनी होती है।

सिर्फ एक बार करना होगा निवेश

हम आपको जिस सरकारी योजना के बारे में बता रहे हैं वो पोस्ट ऑफिस की है। पोस्ट ऑफिस की मंथली इनकम स्कीम अकाउंट (MIS) में आपको अच्छा ब्याज मिलता है। इस योजना में आप एक बार में निश्चित राशि का निवेश कर सकते हैं। इस स्कीम में आप एक बार कोई एकमुश्त राशि का निवेश करके हर महीने ब्याज के रूप में मंथली इनकम हासिल कर सकते हैं। जनवरी-मार्च 2023 के लिए ब्याज दर 7.1 फीसदी ब्याजदर तय की गई है। हालांकि सरकार नियमित आधार पर ब्याज दर निर्धारित करती है। डाकघर की एमआईएस के लिए लॉक-इन पीरियड 5 वर्ष का है। आप मैच्योरिटी के बाद निवेश की गई राशि को निकाल सकते हैं या इसे दोबारा निवेश कर सकते हैं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण 2023 में घोषणा की कि इस योजना में अधिकतम निवेश सीमा एकल खाते के लिए 4.5 लाख रुपये से बढ़ाकर 9 लाख रुपये और संयुक्त खाते के लिए 15 लाख रुपये कर दी जाएगी। डाकघर वर्तमान में पिछली निवेश सीमा दिखाता है।

इस तरह हर महीने मिलेंगे 9 हजार रुपये

पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में निवेश की सीमा बढ़ जाने के बाद, एक संयुक्त खाते में 15 लाख रुपये का निवेश किया जा सकता है। 15 लाख के निवेश के बाद ब्याज के रूप में करीब 9,000 रुपये (8,875 रुपये) की मासिक आय हासिल की जा सकती है। इसके तहत सभी संयुक्त धारकों का निवेश में बराबर का हिस्सा होगा। ब्याज का भुगतान खुलने की तारीख से एक महीना पूरा होने पर इसी तरह मैच्योरिटी तक किया जाएगा। सिंगल अकाउंट के लिए योजना में 9 लाख रुपये की मासिक ब्याज आय 5,325 रुपये की मासिक आय होगी, जबकि संयुक्त खाते में 15 लाख रुपये की जमा राशि 8,875 रुपये की मासिक आय हासिल होगी।

योजना में मिलते हैं ये फायदे

एमआईएस में अच्छी बात ये है कि दो या तीन लोग मिलकर भी ज्वाइंट अकाउंट खुलवा सकते हैं। इस अकाउंट के बदले में मिलने वाली आय को हर सदस्य को बराबर दिया जाता है। ज्वाइंट अकाउंट को कभी भी सिंगल अकाउंट में बदलवाया जा सकता है। सिंगल अकाउंट को भी ज्वाइंट अकाउंट (Joint account) में बदलवा सकते हैं। अकाउंट में किसी तरह का बदलाव करने के लिए सभी अकाउंट मेंबर्स की ज्वाइंट एप्लीकेशन देनी होती है।

यह भी पढ़े:

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *