B.Tech करने के बाद प्राइवेट नौकरी करें या सरकारी, जानिए कहां मिलेगी अच्छी सैलरी ?

B.Tech के बाद प्राइवेट नौकरी या सरकारी नौकरी करने का चयन आपकी आपकी प्राथमिकताओं, आपके लक्ष्यों, और आपकी कौशलों पर निर्भर करता है। दोनों में अपने फायदे और सीमाएं हैं, इसलिए आपको अपने लक्ष्यों और पैसे कमाने के प्राथमिक तरीकों को ध्यान में रखने की आवश्यकता होती है।

प्राइवेट नौकरी:

  1. सालाना आय: प्राइवेट क्षेत्र में नौकरी करके आपकी सालाना आय आमतौर पर सरकारी नौकरी के मुकाबले अधिक होती है।
  2. वर्क लाइफ बैलेंस: प्राइवेट कंपनियों में आपके पास अकेले अधिक काम करने का अधिक अवसर हो सकता है, जिससे आप अपने काम और व्यक्तिगत जीवन को बेहतर तरीके से संतुलित कर सकते हैं।
  3. करियर की गति: प्राइवेट क्षेत्र में आपके पास आपके करियर को बढ़ाने के लिए अधिक आवसर हो सकते हैं, और आप जल्दी पदों को बदल सकते हैं या विभिन्न क्षेत्रों में काम कर सकते हैं।

सरकारी नौकरी:

  1. स्थायितता और सुरक्षा: सरकारी नौकरी में स्थायितता और सुरक्षा की ज्यादा गारंटी होती है, और प्राथमिकताएँ और लाभांश कानूनी तौर पर सुरक्षित रहते हैं।
  2. अधिक छुट्टियाँ और लाभांश: सरकारी कर्मचारियों को अधिक छुट्टियाँ, पेंशन, और अन्य लाभांश मिल सकते हैं
  3. सेवा के रूप में मौका: सरकारी नौकरी आमतौर पर सेवा के रूप में देखी जाती है, और इससे सामाजिक और सामाजिक सेवा के मौके भी मिल सकते हैं।

आपके लिए सही चयन करने के लिए, आपको अपने उद्देश्य, रुचियाँ, और प्राथमिकताएँ स्पष्ट करनी चाहिए। आपका करियर पैथ आपके व्यक्तिगत और पेशेवर लक्ष्यों के साथ मेल खाना चाहिए।

देश में सबसे प्रचलित अंडर ग्रेजुएट कोर्स बीटेक (Bachelor Of Technology) को माना जाता है। हालांकि अब कई अन्य कोर्स भी प्रचलन में हैं। लेकिन बीटेक (B.Tech) करने वालों की संख्या आज भी अधिक है। इस कोर्स में स्टूडेंट्स को कई क्षेत्रों में काम करने का मौका मिल जाता है। कई लोग सोचते हैं कि B.Tech कर सिर्फ प्राइवेट नौकरी की मिलती हैं तो ऐसा नहीं है।  B.Tech करने के बाद सरकारी नौकरी के द्वार भी आपके लिए खुल जाते हैं तो आइए इस पर विस्तार से चर्चा करें।

कैम्पस प्लेसमेंट (Campus placement)

आमतौर पर कॉलेजों में प्लेसमेंट के जरिए छात्रों का चयन किया जाता है। देश की अलग-अलग कंपनियां कॉलेजों में आकर छात्रों को नौकरी के लिए चुनती हैं। B.Tech  के बाद, छात्रों को तकनीकी क्षेत्रों में प्रवेश स्तर की नौकरी के लिए निजी कंपनियों द्वारा नियुक्त किया जाता है। आम तौर पर, उच्च शिक्षा के इच्छुक छात्र अपने संबंधित क्षेत्रों में अनुभव हासिल करने के लिए कैंपस प्लेसमेंट के माध्यम से नौकरियां लेते हैं।

इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा (Engineering Services Exam)

इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा यूपीएससी द्वारा आयोजित एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है। यह उन छात्रों के लिए बेहतर विकल्प है जो बीटेक के बाद डिफेंस, पीडब्ल्यूडी, रेलवे आदि परीक्षाओं में शामिल होना चाहते हैं।

पीएसयू नौकरियां (PSU Jobs)

B.Tech करने के बाद छात्र GATE यानी ग्रेजुएट एप्टीट्यूड टेस्ट फॉर इंजीनियरिंग के माध्यम से सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों में तकनीकी नौकरी भी कर सकते हैं। कई पीएसयू B.Tech छात्रों को उनके GATE स्कोर के आधार पर प्रवेश स्तर की नौकरियों के लिए नियुक्त करते हैं। सीआईआई, इसरो और बीएआरसी जैसे कुछ सार्वजनिक उपक्रम भी प्रवेश स्तर की नौकरियों के लिए बी.टेक छात्रों की स्क्रीनिंग के लिए अपनी परीक्षा आयोजित करते हैं।

यह भी पढ़े:

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *